प्रशासन ने दमरास में चैपाल लगाकर चुनावी आचार संहिता का पाठ पढ़ाया

19orai04उरई। कालपी तहसील क्षेत्र में भी चुनावी आचार संहिता के प्रति लोगों को जागरूक करने और उनसे मत प्रयोग अनिवार्य रूप से करने की अपील के लिए प्रशासन ने ग्राम दमरास में लोगों के साथ चैपाल की।
इस अवसर पर उपजिलाधिकारी संजय कुमार सिंह ने कहा कि चुनाव में धनबल और बाहुबल का उपयोग नही होने दिया जायेगा। इसीलिए चुनाव के दौरान कई प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किये गये हैं। इनका पालन किया जाना चाहिए। सीओ सुबोध गौतम ने कहा कि चुनाव में गड़बड़ी की मंशा रखने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी। उन्होंने लोगों से इस मामले में जानकारी उपलब्ध कराकर सहयोग देने की अपील की। प्रभारी निरीक्षक सिरसाकलार, ग्राम प्रधान परशुराम, रामप्रकाश और अरविंद भदौरिया सहित कई लोग उपस्थित थे।

दो महीने पहले अपहृत का मिला कंकाल, महिलाओं ने अवशेष के साथ कोतवाली पर दिया धरना

19orai01 19orai02 19orai03उरई। दो महीने पहले अपहृत किये गये व्यक्ति के शव का कंकाल लेकर उसके घर की महिलाओं ने कोतवाली में धरना दे दिया। जिससे पुलिस में अफरा-तफरी मच गई। महिलाओं को शव हटाने के लिए राजी करने का प्रयास किया जा रहा था लेकिन महिलाएं मानने को तैयार नही थीं। उधर सीनियर पुलिस अफसर भी इस मामले में पुलिस पर लगाये जा रहे आरोपों पर कुछ भी बोलने से कतराते रहे।
इंदिरा नगर निवासी अमृतलाल का गत् 26 अक्टूबर को पड़ोस में रहने वाले बम्होरी निवासी जितेंद्र राजपूत से विवाद हो गया था। इस मामले में उसकी तहरीर पर पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ शांति भंग की कार्रवाई कर दी जिसमें दोनों को अपनी जमानतें करानी पड़ी। अमृत लाल की पत्नी संतो देवी का कहना है कि गत् 5 नवंबर को इसी मामले में बात के लिए कुछ लोग उसके पति को बम्होरी ले गये। लेकिन जब रात तक वे नही लौटे तो अंदेशे की वजह से उसने उनके मोबाइल पर काॅल की, पर मोबाइल स्विच आॅफ था। इससे उसका संदेह और गहरा गया। इस बीच उसके मोबाइल पर एक फोन आया कि तुम्हें अपना पति सही सलामत चाहिए तो 5 लाख रुपये का इंतजाम कर लो। उसने इसकी सूचना पुलिस के सारे अधिकारियों को दी। लेकिन बकौल उसके पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठे रही जिससे उसके पति का मर्डर हो गया।
Continue reading

नवोदय के हाॅस्टल में घुसकर बाहरी लड़कों ने छात्र को किया लहूलुहान

उरई। नवोदय स्कूल के हाॅस्टल में बुधवार को रात बाहरी लड़कों ने घुसकर एक छात्र के साथ मारपीट करते हुए उसे लहूलुहान कर डाला। जब उसके साथियों ने उसे बचाने का प्रयास किया तो वे लोग उन्हें भी पीटने से नही चूंके। हंगामा होने पर हाॅस्टल का स्टाॅफ आ गया जिसे देखकर बाहरी लड़के भाग खड़े हुए। घायल छात्र के पिता ने आज इस मामले में नवोदय के ही एक छात्र को आरोपित करते हुए मुकदमा दर्ज कराने के लिए कोतवाली में तहरीर दी है।
मोहल्ला इंदिरा नगर निवासी सत्येंद्र गुप्ता का पुत्र प्रभात(16वर्ष) नवोदय स्कूल में 11वीं कक्षा का छात्र है। उसका स्कूल के ही एक अन्य छात्र हरीसिंह से विवाद चल रहा था। इसे लेकर हरीसिंह ने बीती रात लगभग आधा दर्जन बाहरी लड़कों को बुला लिया। जिन्होंने हाॅस्टल में घुसते ही प्रभात के साथ मारपीट शुरू कर दी। इसमें प्रभात बुरी तरह घायल हो गया। उसके साथियों ने जब हमलावरों को रोकने की कोशिश की तो वे उन पर भी टूट पड़े। इस बीच हंगामा सुनकर नवोदय के स्टाॅफ के आ जाने पर बाहरी लड़के भाग खड़े हुए।
उधर प्रभारी निरीक्षक संजय गुप्ता ने बताया है कि नवोदय में झगड़े के पीछे किसी लड़की से प्रेम प्रसंग को कारण बताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जा रही है इसके बाद कार्रवाई की जायेगी।

तस्वीरों में बार संघ का चुनाव

bar-4

बार संघ का चुनाव बुधवार को भारी गहमागहमी के  बीच आयोजित हुआ ,

bar-5

               श्री राम पाल और अकबर अली पूर्व कैबिनेट मंत्रियों सहित सारे अधिवक्ताओं ने पूरे जोश खरोश से मतदान में हिस्सा लिया bar-3

                       महिला अधिवक्ताओं ने भी मतदान में बढ़ चढ़ कर हिस्सेदारी की

       इस बार मतगणना जजी में ही राजेन्द्र रावत सभागार में हुईbar-2

 

  bar-1आखिर भूपेन्द्र विक्रम वैद ने इस बार अध्यक्ष पद पर बाजी मार ही ली 

l

बार चुनाव में वैद अध्यक्ष और अजय पाण्डेय महामंत्री

उरई-। बार संघ के चुनाव परिणाम देर शाम घोषित कर दिये गए ।अध्यक्ष पद पर भूपेन्द्र वैद ने रत्न दीप तिवारी को हराया ।महामंत्री पद पर अजय कुमार पांडे निर्वाचित हुए ,उन्होने महेंद्र विक्रम सिंह को हराया ।कोषाध्यक्ष पद पर संतराम अहिरवार जीते . उनके मुकाबिल शिव शंकर त्रिपाठी और सच्चिदानंद श्रीवास्तव थे ।कनिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर इंद्रजीत सिंह जीते जिन्होने अनंत और बृजेन्द्र को हराया ।

सर्विलांस टीम की जाबांजी ने बढ़ाये जालौन एसपी के नंबर

उरई। रजिस्ट्री आफिस पर एक वृद्ध के साथ लूटपाट हुई। गनीमत यह रही कि किसी ने इसकी खबर पुलिस की सर्विलांस टीम को कर दी। सर्विलांस टीम ने मौके पर जो एक्शन किया उससे यह साबित हो गया कि कितनी भी खामियों केे बावजूद पुलिस अगर कुछ है तो जन भक्षक नही जन रक्षक है।
रजिस्ट्री आफिस पर अछल्दा के निवासी बदमाश थे जो अपने को बहुत तीरदांज समझ रहे थे उन्होंनें असलहोें के जोर पर सर्विलांस टीम और उनके साथ तब तक पहुंच चुके कोतवाली पुलिस के दो जाबांज जवानों कों अपने रुआब से नतमस्तक करने की कोशिश की लेकिन खाकी का मनोबल बेहद बुलंद था जिससे उनकी घिग्घी बंध गईं और वे दौड़ पड़े पीछे सर्विलांस टीम के इंचार्ज सब इंस्पेक्टर बृजेश यादव, शुएब आलम जिनका नाम ही बदमाशों के लिए काफी है। कुलभूषण सिंह, गौरव बाजपेयी ने उन्हें खदेड़ा। पूरा रास्ता जंग का मैदान नजर आ रहा था। वे लोग दौड़कर आर्यकन्या इंटर काॅलेज के पास पनाह लेने की सोच ही रहे थे कि तब तक उनका पीछा कर रही सर्विलांस टीम और कोतवाली पुलिस ने उन्हें धर दबोचा। कल की पत्रकारवार्ता में इसका प्रस्तुतिकरण कैसा भी हो और इस गुडवर्क का क्रेडिट किसी भी खाते में जाये लेकिन सर्विलांस की टीम की जो छाप प्रत्यक्षदर्शी जनमानस में बनी है उसमें सबसे बड़े हीरो एसपी के नुमांइदें सर्विलांस टीम के लोग हैं।

क्या ईंटे से कूच कर की गई थी भगवानदास की हत्या

कोंच-उरई। तीन दिन पूर्व एट थाना क्षेत्र के ग्राम जमरोही कलां में दलित भगवानदास की हत्या ईंटे के कूंच कर किये जाने की कहानी उभर कर सामने आ रही है। पुलिस की अगर मानें तो मृतक और आरोपी आपस में गहरे मित्र भी थे और उनका आपस में लेन देन का भी व्यवहार था। हालांकि हत्या का कारण अभी भी स्पष्ट नहीं हो सका है लेकिन सूत्रों की अगर मानें तो इसके पीछे भी कहीं न कहीं लेन देन का ही विवाद बताया गया है।
गुजरी 15 जनवरी को तहसील तथा सर्किल कोंच के एट थाना क्षेत्र के ग्राम जमरोही कलां में दलित विरादरी के भगवानदास अहिरवार नामक वृद्ध की हत्या गांव के ही पूर्व प्रधान ज्ञानसिंह कुशवाहा द्वारा कर दी गई थी और लाश गांव के ही तालाब के किनारे दबा दी गई थी। कल हालांकि हत्याकांड के एक आरोपी पूर्व प्रधान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है लेकिन हत्या का मोटिव और हत्या का तरीका अभी भी पर्दे में ही है। सूत्रों की अगर मानें तो यह हत्या बिना किसी मोटिव के भी की गई हो सकती है क्योंकि मृतक और आरोपी आपस में अच्छे मित्र भी थे और न केवल लेन देन अपितु खाने-पीने और मौज-मस्ती में भी हम प्याला हम निवाला अक्सर रहते थे। घटना के दिन भी खाने पीने का दौर चल रहा था और समझा जा रहा है कि इसी दरम्यान किसी बात को लेकर बतंगड़ बन गया और इनके एक और साथी मानवेन्द्र सिंह निवासी मड़ोरा थाना पूंछ ने पास पड़ी कोई ईंट भगवानदास के सिर में दे मारी जिससे इसकी मौत हो गई। हालांकि इस बीच ऐसी भी खबर मिल रही है कि ज्ञानसिंह का कुछ पैसा भगवानदास के पास था जिसे उसके द्वारा मांगे जाने पर उसने इंकार कर दिया और बात हत्या तक जा पहुंची। पुलिस पूर्व प्रधान को जेल भेजने की तैयारी में है, लेकिन अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी और घटना का अभी पर्दाफाश होना बाकी है। इस बाबत सीओ नवीन कुमार नायक का कहना है कि मामले की जांच जारी है और जो भी घटना में संलिप्त होगा उसकी शीघ्र ही गिरफ्तारी की जायेगी।