अधिकारियों ने दिए समस्याओं के समयसीमा में निस्तारण के निर्देश

 

उरई/कालपी/जालौन। जनपद में मंगलवार को संपूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर समस्त तहसीलों में अधिकारियों ने फरियादियों की समस्याओं को सुना और उनके जल्द निस्तारण के निर्देश अपने मातहत अधिकारियों व कर्मचारियों को दिए। हालांकि इस बार भी शिकायतों का तो अंबार रहा लेकिन निस्तारण के नाम पर फरियादियों को निराशा हाथ लगी।

कालपी संवाददाता के अनुसार तहसील सभागार में जिलाधिकारी डा. मन्नान अख्तर की अध्यक्षता व पुलिस अधीक्षक अमरेन्द्र प्रसाद सिंह की मौजूदगी मे आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में विभिन्न विभागों से संबंधित 150 शिकायती प्रार्थना पत्र आए जिनमें चार का ही मौके पर निस्तारण हो सका। जिलाधिकारी ने उपस्थित अधिकारियो को समय सीमा के अन्तरगत प्रार्थना पत्रों के निस्तारण किये जाने के निर्देश दिए। इस दौरान सीएमओ डा.अल्पना बरतिया,डीडीओ मिथलेश सचान, जिला विद्यालय निरीक्षक भगवत पटेल व उपजिलाधिकारी सतीश चन्द्र सीओ सुवोध गौतम व तहसीलदार सालिकराम, अजय कुमार एसडीओ विद्युत ,ईओ सुशील कुमार दोहरे, सभापति यादव जेई जलसंस्थान अजीत सिंह पूर्ति निरीक्षक सहित सभी विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

जालौन संवाददाता के अनुसार मंगलवार को तहसील सभागार में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में  मुख्य विकास अधिकारी अवधेश बहादुर सिंह , उपजिलाधिकारी भैरपाल सिंह तथा पुलिस उपाधीक्षक संजय कुमार ने संयुक्त रूप से शिकायतों को सुना जिसमें 54 शिकायतें पंजीकृत हुई जिसमें से मौके पर एक का भी निस्तारण नहीं हो सका। समाधान दिवस में पूर्ति अधिकारी कमल सिंह , ईओ डीडी सिंह, डा. सहन बिहारी, सीडीपीओ अंकिता वर्मा, जेई जल संस्थान हरिकेत पटेल, कोतवाल संजय कुमार गुप्ता , रविन्द्र कुमार, ओम प्रकाश शुक्ला , शशिभूषण भारद्वाज बिजली विभाग समेत कई अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

कोंच संवाददाता के अनुसार सम्पूर्ण समाधान दिबस पर शिकायत सुनने आये जिले के अपर जिलाधिकारी पीके सिंह के समक्ष कुल 42 शिकायते दर्ज की गयीं जिनमे 2 शिकायतों का मौके पर निस्तारण हुआ। इस बार 25 एेसी शिकायते मिली है जो विभिन्न बिभागो से है और पेंडिंग में चल रहीं है उनके प्रति गंभीर होकर एक सप्ताह के अंदर पेंडिंग शिकायतों का निस्तारण करें। इस अवसर पर उपजिलाधिकारी लल्लन राम तहसीलदार भूपाल सिंह वन क्षेत्राधिकारी बीके सिंह सीएचसी कोंच से डा आर के शुक्ला नदीगांव से डा के के भार्गव कोंच कोतवाली से प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार मिश्रा, विद्युत विभाग से जेई मोहन कृष्ण जल संस्थान जेई राहुल सिंह नगर पालिका परिषद से सफाई निरीक्षक अभय सिंह नदीगांव नगर पालिका से शिवकुमार पाण्डेय सहित तमाम विभाग के कर्मचारी मौजूद रहे।

 

Advertisements

जेसीबी से टट्टर ढहाने गए ठेकेदार व दुकानदारों में ठनी

 

 

सभासद के नेतृत्व में तहसील दिवस में दिया शिकायती पत्र

उरई। नगर पालिका द्वारा स्वर्गधाम के सामने कराए जा रहे पार्क निर्माण के दौरान वहां लगे छोटे दुकानदारों के टट्टर हटाने को लेकर सभासद व दुकानदारों का ठेकेदार से विवाद उत्पन्न हो गया। आज सभासद के नेतृत्व में टट्टर दुकानदारों ने तहसील दिवस में पहुंचकर शिकायती पत्र देकर कार्रवाई किए जाने की मांग की।

वार्ड नंबर दस के सभासद राधेश्याम वर्मा के साथ मनोज वाल्मीकि, अमित, अरविंद, वशीर, टिंकू व्यास, अनीस मंसूरी, रघुवंशी लाल पांचाल, चांद मंसूरी, सुनील चौधरी, मुकेश कुमार, शीलू, मुकेश कुमार, दिनेश कुमार, हरिमोहन, जयहिंद, नत्थू, लालमन, छोटे यादव, आकाश, रशीद मंसूरी, अनीस खां, मल्लू खां, अशोक, अनवार, मतलू, राममूरत आदि ने तहसील दिवस में दिए शिकायती पत्र में कहा कि स्वर्गधाम के सामने नगर पालिका परिषद द्वारा पार्क बनवाने के लिए जगह प्रस्तावित की गई है जिसमें निर्माण कार्य चल रहा है। गत रात्रि उमा जखौली अपने कुछ साथियों सहित जेसीबी मशीन लेकर वहां पहुंचे और छोटे दुकानदारों के टट्टर तोडऩे लगे। जब दुकानदारों ने विरोध किया तो वह उनसे गालीगलौज पर उतर आए। इस पर जब वार्ड के सभासद वहां पहुंचे तो उन्होंने उनको भी धमकाया और गालीगलौज करते हुए वहां से चले गए। दुकानदारों ने कहा कि तोडफ़ोड़ की पूरी घटना का प्रमाण उनके पास है। उन्होंने मामले को लेकर उचित कार्रवाई किए जाने की मांग की।

योग दिवस को सफल बनाने के लिए सामाजिक संगठन आगे आएं: डीएम

 

 

 

 

21जून को विश्व योग दिवस मानाने की तैयारिया जोरों पर

उरई। जिलाधिकारी डा. मन्नान अख्तर की अध्यक्षता में योग दिवस 21 जून 2018 को मनाये जाने के सम्बन्ध में तैयारी बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। जिलाधिकारी ने कहा कि योग दिवस में अधिक से अधिक संख्या में नागरिकों की सहभागिता हो इसके लिए सभी सम्बन्धित योग से जुड़े संगठन अपने स्तर से प्रचार-प्रसार करायें और नागरिकों की सहभागिता सुनिश्चित करायें। जिससे अधिक से अधिक लोग योग करके अपने शरीर को स्वस्थ्य और सुन्दर बनाने हेतु योगा सीख सकें और भविष्य में इसका उपयोग कर शरीर को निरोग बनाने में कामयाब हो सकें। उन्होंने सभी सम्बन्धित अधिकारियों एवं आयुष तथा पतंजलि के कार्यकर्ताओं से कहा कि इन्दिरा स्टेडियम में आयोजित होने वाले योग दिवस को सफल बनाने हेतु सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित कर ली जायें। जिसमे स्टेज, पानी के टैंकर, शौचालय, साउण्ड सिस्टम मय जनरेटर दरी फर्श की व्यवस्था सुनिश्चित करें। आयुष को निर्देश दिये कि वह शासन की निर्देशानुसार निर्धारित डिजाइन के अनुसार बैनर आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करायेंगे। यह कार्यक्रम 21 जून को शासन के निर्धारित समयानुसार प्रात: 07 बजे से 08 बजे तक सम्पन्न होगा। योग दिवस में भाग लेने वाले सभी नागरिक प्रात: 06 बजे इन्दिरा स्टेडियम में उपस्थित होकर भाग लेना सुनिश्चित करें। क्योंकि 06.15 से 06.45 बजे तक पतंजली द्वारा योग के सम्बन्ध में बताया जायेगा। योग दिवस में अधिक से अधिक जन सहभागिता हेतु दिनांक 20 जून 2018 को प्रात: 06.30 बजे टाउन हाल उरई से जन जागरूकता रैली निकाली जायेगी, जो शहीद भगत सिंह चैराहा, माहिल तालाब से बजरिया होते हुए अम्बेडकर चैराहा से होकर टाउन हाल में समाप्त होगी।  इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अवधेश बहादुर सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रमिल कुमार सिंह, नगर मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार सिंह, जिला विकास अधिकारी मिथिलेश सचान, जिला विद्यालय निरीक्षक भगवत पटेल एवं रामप्रकाश द्विवेदी, आयुष के प्रतिनिधि, डा. ममता स्वर्णकार श्रीमति शशि सिंह सहित अन्य अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

 

लेखपालों ने काली पट्टी बांध किया विरोध प्रदर्शन मांगों को लेकर सौंपा एसडीएम को ज्ञापन

 

जालौन-उरई । उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ तहसील इकाई के तत्वावधान में तहसील के लेखपालों ने वेतन, पेंशन, भत्ता, लैपटॉप व मोबाइल समेत आठ मांगों को लेकर काली पट्टी बांध कर विरोध प्रदर्शन किया तथा अपनी मांगों को लेकर मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी को सौंपा।

संघ के तहसील अध्यक्ष रंजीत सिंह के नेतृत्व में तहसील के लेखपालों ने तहसील परिसर में काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शन किया। इसके बाद तहसील में आयोजित सभा में बोलते हुए कहा कि वर्षों से हमारी मांगे लम्बित हैं। वेतन उच्चारण, वेतन विसंगति, पेंशन विसंगति, भत्ता वृद्धि, लैपटॉप व स्मार्ट फोन वितरण, प्रोन्नति समेत कई मांगों को लेकर 21 सितम्बर 2016 को छह सूत्रीय मांगों को लेकर सहमति बनी थी। इसके बाद भी मांग पूरी न होने पर 17 मार्च, 11 अप्रैल 2017, अक्टूबर 17 को भी आन्दोलन किया गया था। इसके बाद सरकार ने उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया। सचिव मंसूर खां ने कहा कि वादा खिलाफी को लेकर आज से 25 जून तक काली पट्टी बांधकर विरोध किया जायेगा। 26 जून से 2 जुलाई तक ई डिस्ट्रिक्ट के कार्यों का बहिष्कार किया जायेगा। 3 जुलाई से 7 जुलाई तक तक सभी कार्य बहिष्कार तथा तहसील मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन किया जायेगा। इसके बाद भी अगर मांगें पूरी नहीं हुई तो 9 जुलाई से अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार किया जायेगा। धरना प्रदर्शन के बाद लेखपालों ने मुख्यमंत्री को सम्बोधित आठ सूत्रीय मांग पत्र उपजिलाधिकारी को दिया। इस मौके पर ओम नारायण चतुर्वेदी, शिवराज सिंह, राजेश श्रीवास्तव, महेंद्र निरंजन, आंनद कुमार, पुषपेन्द्र शर्मा, रामरत्न वर्मा, दयाशंकर वाथम, अभय कुमार, सन्तोष श्रीवास्तव, कृष्णा बाबू खरे, राकेश कुमार मिश्रा, राम दत्त निरंजन, राजेश वर्मा, दीपक वर्मा तथा जितेंद्र निरंजन उपस्थित थे।

 

 

पुलिस ने पकड़े तीन जुआरी

 

कालपी-उरई \ कालपी कोतवाली पुलिस ने मोहल्ला तरीबुल्दा से बीती रात्रि हार-जीत की बाजी लगाते हुए तीन जुआरियों को जुआ खेलते गिरफ्तार किया।

मिली जानकारी के मुताबिक कालपी कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला तरीबुल्दा स्थित सडक़ के किनारे देर शाम सार्वजनिक स्थल पर हार-जीत की बाजी लगाते हुए तीन जुआरियों सोनू अहिरवार पुत्र महावीर अहिरवार,रामू निषाद पुत्र फलदार निषाद, रामस्वरूप निषाद पुत्र श्रीराम निषाद निवासीगण तरीबुल्दा कालपी जालौन को 180 रूपये मालफड़ वह 400 जामातलाशी व 52 पत्ता ताश की गड्डी के साथ उपनिरीक्षक मनोज गुप्ता ने गिरफ्तार कर 13 जुआ एक्ट के तहत जेल भेजा।

हादसों के लिए सड़क पर इतंजाम, प्रशासन को नही होश

उरई। सड़कों पर हादसे का इंतजाम बना हुआ है लेकिन हफ्तों गुजर जाने के बावजूद लोगों की जान से हो रहे खिलवाड़ के ऐसे मंजर पर प्रशासन की निगाह नही जाती।
डकोर ब्लाक क्षेत्र के नुनसाई ग्राम में सड़क पर टूटी पुलिया के कारण आये दिन हादसे होते रहते हैं। लेकिन कई महीने हो जाने के बावजूद अभी तक प्रशासन ने इस पुलिया की मरम्मत कराने की सुध नही ली है। यह पुलिया रोड के बीचों बीच है इसलिए कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है।

खनन माफियाओं द्वारा शहीद किये गये पत्रकार के आवास पर तैनात गनमैन ने खुद को गोली से उड़ाया

भिंड। खनन माफियाओं द्वारा ट्रक से कुचलकर मारे गये पत्रकार संदीप शर्मा के सरकारी गनमैन ने मंगलवार को खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। जिसे लेकर सवाल उठ रहे हैं कि ये आत्महत्या है या हकीकत मिटाने के लिए की गई अप्रत्यक्ष हत्या।
गौरतलब है कि भिंड में खनन माफियाओं के खिलाफ क्रांतिकारी रिपोर्टिंग करने वाले पत्रकार संदीप शर्मा की इसी 26 मार्च को एक ट्रक से कुचलवाकर हत्या करवा दी गई थी और आत्महत्या का रूप दे दिया गया था। उनके निवास पर गोली मारकर आज आत्महत्या करने वाला गनमैन एसएएफ की 17वीं बटालियन का आरक्षक था। मुकेश राठौर नाम के इस आरक्षक ने सुबह 5 बजे अपने को गोली मार ली जिसे लेकर अटकलों का बाजार गर्म है। मध्य प्रदेश की मुख्य प्रतिपक्षी पार्टी कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी ने आरक्षी की आत्महत्या को लेकर टिवटर पर लिखा है कि कैसे अच्छे दिन आ गये हैं जब खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर रहे।