लोकल न्यूज़

गैस कैप्सूल में आग लगने से नेशनल हाइवे पर मची भगदड़

12orai01उरई। गैस से भरा कैप्सूल पलट जाने से उसमें आग भड़क उठी। जिससे कानपुर-झांसी फोरलेन पर यातायात बाधित हो गया। लगभग आधा दर्जन दमकल गाड़ियां घंटों तक आग बुझाने में जुटी रहीं। फिर भी आग पर पूरी तरह नियंत्रण नही हो सका है। हादसे में कैप्सूल का ड्राइवर व एक अन्य सवारी बुरी तरह घायल हो गये।
झांसी से कानपुर जा रहा भारत गैस कंपनी का कैप्सूल एट बाईपास के पास अचानक सामने से गाय आ जाने पर उसे बचाने की ड्राइवर की हड़बड़ाहट में पलट गया जिससे उसमें आग धधक उठी। हादसे के बाद यहां से गुजर रहे वाहनों के चालक अपनी-अपनी गाड़िया खड़ी करके दहशत में खेतों की ओर भाग गये। खबर पाकर तत्काल पुलिस मौके पर पहुंची। उरई व मोंठ से दमकल गाड़ियां मगाकर आग बुझाने का प्रयास शुरू कर दिया गया। दमकल गाड़ियों से हो रही पानी की बौछार के कारण कैप्सूल में विस्फोट नही हो सका। वरना बहुत भयानक हादसा हो सकता था। आग लगने के दो घंटे तक ड्राइवर कैप्सूल के इंजन के नीचे फसा रहा। मौके पर पहुंचे मीडिया कर्मियों की निगाह उसके हाथ-पैरों पर पड़ गई। उनके चिल्लाने पर किसी तरह से ड्राइवर को बाहर निकाला गया। ड्राइवर की हालत बेहद नाजुक थी। जिसकी वजह से जिला अस्पताल आने पर डाॅक्टरों ने उसे भर्ती किये बिना मेडिकल काॅलेज झांसी के लिए रेफर कर दिया गया। दिल्ली से मजदूरी करके लौट रहा खरूसा निवासी तालिब (25वर्ष) झांसी से कैप्सूल में बैठ गया था। उसे भी गंभीर चोंटे आई हैं और जिला अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। जिलाधिकारी रामगणेश ने कहा कि नेशनल हाइवे का मामला होने की वजह से जिला प्रशासन आग बुझाने के काम पर पूरी निगाह रखे हुए है। झांसी से भारत पैट्रोलियम के विशेषज्ञों को भी मौके पर बुलाया गया है। उन्होनें कहा कि आग जल्दी ही पूरी तरह बुझा ली जायेगी। हादसा विकराल था जिसमें व्यापक क्षति हो सकती थी लेकिन समय रहते स्थिति पर काबू कर लिया गया जिसके कारण अब चिंता की कोई बात नही है।

Advertisements